Neural Text To Speech Benefits| टेक्स्ट टू स्पीच क्या है ?

 

दोस्तो अक्सर आपके पास ऐसे कई मेसेज , प्रलेख या PDF जरूर आते होंगे जो आकार में काफी बड़े होते है और व्यस्त होने के कारण या किसी अन्य कारण से आप उन्हें पढ़ने मे असहज महसूस करते होंगे और सोचते होंगे कि काश ये आपको कोई पढ़कर बता दे ।

दोस्तो इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है एक ऐसे A.I के बारे में जिसके उपयोग से आप किसी भी डिजिटल टेक्स्ट को सिर्फ एक क्लिक करके अपने मेसेज, PDF, या कोई भी डिजिटल रूप से लिखे टेक्स्ट को स्पीच में बदल सकते हैं

जी हाँ हम बात करने जा रहे है, गूगल के AI टेक्स्ट टू स्पीच के बारे में , इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए इसके अंत तक आपको इससे जुड़ी हर एक आवश्यक जानकारी पता चल जाएंगी और आपको एक ऐसे AI बेस्ड प्रोग्राम के बारे में बताऊंगा जिसके उपयोग से बिल्कुल ह्यूमन वोइस जनरेट कर पाएंगे ।

 

टेक्स्ट टू स्पीच क्या है ? [ Text to speech kya hai ]

जैसा कि टेक्स्ट टू  स्पीच के नाम से ही प्रतीत होता है कि लिखे हुए शब्द को पढ़कर बताना, टेक्स्ट टू स्पीच एक ऐसी तकनीक है जिसके द्वारा हम किसी भी डिजिटल टेस्ट को आवाज या स्पीच में परिवर्तित करके अपनी पसंदीदा भाषा मे सुन सकते है, ये उन लोगो के लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो जाता है जिन्हें लिखित भाषा को पढ़ने में काफी दिक्कत होती है ऐसे लोग टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग कर अपनी पसंदीदा आवाज में लेख को सुन सकते है, लेकिन आज कल इसका उपयोग लोग यूट्यूब वीडिओज़ बनाने ऑडियो बुक्स बनाने या प्रतिक्रिया देने वाले बोट्स बनाने के लिए भी करने लगे है ।

 

टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग क्यो किया जाता है ?

हमारे दैनिक जीवन मे काफी व्यवस्था रहती है मनुष्य हमेशा एक साथ कई कार्य को करने की सोचता है, परन्तु पढ़ने के वक़्त उसे सिर्फ लेख पर ही ध्यान केंद्रित करना पड़ता है ताकि हमसे पढ़ने में कोई गलती न हो जाये, इस समस्या को काफी हद तक टेक्स्ट टू स्पीच AI दूर करने में सक्षम होता है जिसके उपयोग से हम टेक्स्ट को आवाज में परिवर्तित करके सुन सकते है और साथ मे उसी वक़्त अपने किसी अन्य कार्य को भी अंजाम दे सकते है ।

             क्या टेक्स्ट-टू-स्पीच हर किसी के लिए उपयोगी है ?

हाँ, टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग हर कोई कर सकता है, यह हर उस व्यक्ति के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है जिसे पढ़ने में तकलीफ का सामना करना पड़ता है, जैसे छोटे बच्चे जो पढ़ने में उतने सक्षम नही है या बुजुर्ग व्यक्ति या फिर कोई पेशेवर व्यक्ति जिसे अपने व्यस्त समय मे पढ़ने में कठिनाई महसूस होती हो वह भी अपने डिजिटल डिवाइस [मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर इत्यादि ] के उपयोग से काफी आसानी से टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग करके कार्य करते हुए भी पढ़ने का आनंद उठा सकता है ।

लेकिन टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग व्यावसायिक तौर भी काफी किया जाता है, लेकिन उसके लिए ह्यूमन फ्रीक्वेंसी वाले AI की जरूरत पड़ती है जो कि काफी महंगे होते है लेकिन http://neuraltts.in एक मात्र इंडियन AI है जो काफी कम कीमत पर बेस्ट परफॉर्मेंस दे पा रहा है, और इसीलिए ये काफी तेजी से पॉपुलैरिटी गेन कर पा रहा है

टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग कैसे करें [ स्टेप बाई स्टेप ] ?

टेक्स्ट टू स्पीच तकनीक का उपयोग करने के लिए सबसे पहले एक डिजिटल डिवाइस की आवश्यकता होती है जैसे एक मोबाइल , फ़ोन , कंप्यूटर या टैबलेट जिसकी सहायता से हम टेक्स्ट को ध्वनि मे परिवर्तित कर सकें ।

ह्यूमन वोइस जनरेट करने का स्टेप :-

1.       कोई भी ब्राउज़र ओपन करें

2.       http://neuraltts.in इस वेबसाइट लिंक पर क्लिक करें या ये डोमेन सर्च करें और आपका ह्यूमन वॉइस जेनेरेटर तैयार है टेक्स्ट को ध्वनि में परिवर्तित करने के लिए और इसका उपयोग आप यूट्यूब के लिए भी कर सकते है ।

ंड्रॉयड मोबाइल में टेक्स्ट तो स्पीच ऑन करने का स्टेप :-

1.       सबसे पहले अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन के सेटिंग्स ऑप्शन पर क्लिक करें ।

2.       सेटिंग्स में नीचे जाकर अतिरिक्त सेटिंग्स पर क्लिक करें ।

3.       अतिरिक्त सेटिंग में आपको Accessibility का ऑप्शन दिखेगा उसपर क्लिक करके चले जाएं ।

4.       उसके बाद आपको Accessibility मेनू का ऑप्शन दिखेगा उसपर जाकर उसे ऑन कर देना है ।

अब आपका टेक्स्ट टू स्पीच ऑप्शन इनेबल हो गया है ।

5.       अब अपने फ़ोन के राइट कार्नर पे एक पुतले के आइकॉन पे क्लिक करके आप टेक्स्ट तो स्पीच का लाभ उठा सकते है ।

विंडोज कंप्यूटर में टेक्स्ट तो स्पीच ऑन करने के स्टेप :-

 

1.       सबसे पहले START पर क्लिक करें ।

2.       सर्च बार मे कंट्रोल पैनल सर्च करके कंट्रोल पैनल पे जाएं ।

3.       उसके बाद टेक्स्ट टू स्पीच पर क्लिक करके प्रीव्यू लेकर आप चेक कर सकते है ।



टेक्स्ट को लड़की की आवाज में कैसे बदलें ?

 आप टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग करके टेक्स्ट को लड़की के आवाज में भी सुन सकते है, या फिर आप लड़की की आवाज में टेक्स्ट को कन्वर्ट करके अपने दोस्तों के साथ प्रैंक भी कर सकते है, लेकिन इसमें से आने वाली आवाज काफी रोबोटिक सी आती है जिसे सुन कर कोई भी तकनीक से जुड़ा हुआ व्यक्ति आसानी से आवाज पकड़ सकता है, लेकिन इसके लिए भी ह्यूमन वॉइस वाले वॉइस जनरेटर आते है जिनको उपयोग में लेकर हम 80-90% लगभग मनुष्य की तरह आवाज निकाल सकते है ।

टेक्स्ट को लड़की की आवाज में बदलने का स्टेप : -

 

1.       SETTING में जाएं और ACCESSIBILITY SETTING पर क्लिक करे ।

 

2.       TEXT-TO-SPEECH OUTPUT पर क्लिक करें ।

 

3.       PREFERRED ENGINE के सेटिंग पर क्लिक करें ।

 

4.       INSTALL VOICE DATA पर क्लिक करें और फीमेल वोइस पैकेज डाउनलोड करलें ।

 

इतने स्टेप्स के बाद आपके एंड्रॉयड डिवाइस में लड़की की आवाज में टेक्स्ट रीडर इनस्टॉल हो जाएगा ।

 

आदमी की आवाज में टेक्स्ट को कैसे परिवर्तित करें ?

आदमी की आवाज में टेक्स्ट सुनने के लिए भी बिल्कुल वैसे ही स्टेप्स का उपयोग किया जाता है जो स्टेप लड़की की आवाज इनस्टॉल करने के लिए किया गया है जो नीचे दिए गए है :-

 

टेक्स्ट को आदमी की आवाज में बदलने का स्टेप : -

 

1.       SETTING में जाएं और ACCESSIBILITY SETTING पर क्लिक करे ।

 

2.       TEXT-TO-SPEECH OUTPUT पर क्लिक करें ।

 

3.       PREFERRED ENGINE के सेटिंग पर क्लिक करें ।

 

4.       INSTALL VOICE DATA पर क्लिक करें और फीमेल वोइस पैकेज डाउनलोड करलें ।

 

इतने स्टेप्स के बाद आपके एंड्रॉयड डिवाइस में आदमी की आवाज में टेक्स्ट रीडर इनस्टॉल हो जाएगा ।

 

टेक्स्ट को हिंदी में कैसे सुनें ?

 

1.       SETTING में जाएं और ACCESSIBILITY SETTING पर क्लिक करे ।

 

2.       TEXT-TO-SPEECH OUTPUT पर क्लिक करें ।

 

3.       PREFERRED ENGINE के सेटिंग के नीचे आपको एक भाषा का विकल्प दिखेगा उसपर क्लिक करके हिंदी भाषा का चयन कर ले ।

 

अब आपके मोबाइल में टेक्स्ट हिंदी भाषा मे पढ़कर बोला जाएगा ।

 

क्या हम टेक्स्ट टू स्पीच से यूट्यूब वीडियो बना सकते हैं ?

हाँ, आप टेक्स्ट टू स्पीच फंक्शन का उपयोग करके बेशक यूट्यूब के लिए वीडियो बना सकते है वरन कई लोग ये करके काफी पैसा भी कमा रहे है, लेकिन आज कल यूट्यूब की कुछ पालिसी बदल जाने के बाद से इन फीचर्स का उपयोग करके वीडियो बनाने में थोड़ा रिस्क बढ़ गया है अगर आप इन वॉइस का उपयोग करके वीडियो बनाते है तो आपको आपके चैनल में काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा अगर आप उन सभी को झेलने के लिए तैयार है तो आप बेशक यूटूब के लिए इनसे वीडियो बना सकते है ।

टेक्स्ट टू स्पीच से वीडियो बनाने से होने वाली परेशानियां

1.       एडसेंस मॉनिटाइजेसन कहीं न कहीं हर किसी का यूट्यूब करना पैसो के लिए ही होता है, और जैसा कि आपको पता है कि यूट्यूब से एक स्थिर कमाई का स्त्रोत एडसेंस ही है लेकिन अगर आप टेक्स्ट टू स्पीच का उपयोग करके वीडिओज़ बनाते हैं, तो काफी ज्यादा संभावना है कि यूट्यूब आपके चैनल पे याद लगाने ही नही देगा, जिससे आपके यूट्यूब के रेगुलर इनकम का एक श्रोत कम हो जाएगा ।

 

2.       दर्शकों का लगाव चूंकि आपके चैनल को एक AI के आवाज के द्वारा चलाया जाएगा तो दर्शक आपके चैंनल तक आएंगे जरूर पर आपसे उनका किसी प्रकार का लगाव या जुड़ाव नही हो पायेगा, जिससे अगर आपके चैनल कभी डिलीट होते है तो लोगो को उसकी भनक भी नही लगेगी ।

 

3.       चैनल डिलीट होने का खतरा आये दिन यूट्यूब में नई नई पालिसी आती रहती है, जिसके कारण इस तरह के चैनल जो किसी मनुष्य द्वारा नही चलाये जा रहे है डिलीट भी किये जा सकते है, लेकिन इसकी काफी कम संभावना है, लेकिन अगर चैनल डिलीट हो जाता है तो आपकी सारी मेहनत एक क्षण में खत्म हो जाएगी ।

 

लेकिन आजकल मार्किट में कई ऐसे भी AI बेस्ड सॉफ्टवेयर रहे है जिनकी आवाज बिल्कुल मनुष्यो की तरह लगती है, जिनके उपयोग से आप यूटूबर जैसे प्लेटफॉर्म्स में आराम से 

Follow US

Get newest information from our social media platform